Shahid Naqvi

Freelance Senior Journalist

135 Posts

212 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 17405 postid : 1231714

चाइ्रनीज़ मांझे का वहिष्कार करें

Posted On: 17 Aug, 2016 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आप सब से एक विनम्र अपील ।मित्रों सरकार अपना काम अपने तरीके से करती है ।हर जगह सरकार का पहुंचना मुमकिन भी नही है ।इस लिये हमे अपने नागरिक कर्तव्यों का भी पालन करना चाहिये ।
मै बात कर रहा हूं जानलेवा साबित हो रहे चाईनीज़ मांझा की ।कुछ जगह जिला प्रशासन ने इस बावत कदम उठायें हैं । लेकिन ये काम बिना जनता के सहयोग के अब सम्भव नही दिखता है ।इस मांझा की खरीद फरोख्त सरकार नही हम आप करते हैं ।हमारे कुछ भाइ्र ही इस को चीन से आयात करवातें हैं और फिर हम ही इसे अपनी पतगों मे स्तेमाल करतें हैं ।इस लिये हम ही अगर इसकी खरीद फरोख्त बंद कर दें तो ये बिना कानून की मदद के बाजार से बाहर हो जायेगा ।इससे प्रयोग से हमे क्या मिलता है ,बस कुछ पतगों को काटने और अपनी कुछ रूपये की पतंग को बचापाने का सुख ।हम ऐसा करके रोज़ कोइ्र् पतंग की प्रतियोगिता नही जीतते या धन नही कमाते । इस लिये समाज के हित मे हम अपना क्षणिक सुकून छोड़ सकते हैं ।देश भर मे अब तक इस मांझा ने सैकड़ों जाने ले ली हैं ।कहीं ऐसा ना हो की हमारा आपका भी कोइ्र अपना इसकी चपेट मे ना आ जाये ।
दिल्ली के रानीबाग में मांझे से दर्दनाक हादसे ने हमको विचलित कर दिया इस लिये आप सब से हाथ जोड़ की इसके वहिष्कार की प्रार्थना कर रहा हूं । दिल्ली के रानीबाग में मांझे से दर्दनाक हादसा उस वक्त हुआ, जब तीन साल की एक बच्ची मां की गोद के सहारे कार की रूफ विंडो से बाहर झांक रही थी। पिता ड्राइविंग कर रहे थे। दोनों को पता ही नहीं चला कि कब उनकी इकलौती बेटी की गर्दन मांझे से कटी। उन्हें लग रहा था कि बेटी खुशी से किलकारियां भर रही है।

जब वह खून से लथपथ निढाल होकर उनकी गोद में गिरी तो सन्न रह गए। मांझा उसकी गर्दन में फंसा था। वे उसे लेकर फौरन अस्पताल भागे, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची की सांसें रुक गई हैं।
बच्ची विंडो से बाहर देखकर काफी खुश थी। उनकी बगल वाली सीट पर उसकी मां बैठी थीं। कार से सांची का चेहरा नजर नहीं आ रहा था। जब वह खून से लथपथ उनकी गोद में गिरी तो हादसे का पता चला। उसकी गर्दन मांझे से बहुत गहरी कट चुकी थी। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने मृत बताया।ये हादसा पिछले दिनों का है ।इस मामले में रानी बाग पुलिस ने लापरवाही का केस दर्ज किया है।इस घटना के अलावा 14 अगस्त की शाम दिल्ली की विकासपुरी में एक युवक की मांझे से गला कटने के कारण मौत हो गई। खबरों के मुताबिक गाजीपुर बॉर्डर के पास एक बाइक सवार की गर्दन मांझे से कट गई।इसके अलावा बरैली मे कई हादसे हुये । इलाहाबाद सहित देश दूसरे शहरों मे भी चाईनीज़ मांझा कातिल बन चुका है । आशा है कि लोग आगे आयेंगें । *** जय हिंद ,शाहिद नकवी **

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran